LAW Courses
LAW Courses

Share on Facebook

Share on Twitter

Share on LinkedIn

Share on Email

Share More

मेरे ताउजी और पिताजी ने मिल कर एक जमीन संयुक्त नाम से खरीदी थी।

(Querist) 08 October 2013 This query is : Resolved 
मेरे ताउजी और पिताजी ने मिल कर एक जमीन संयुक्त नाम से खरीदी थी।
याने की ताउजी +पिताजी के नाम से। ताउजी अविवाहित - निसंतान गुजर गए थे।
मेरे पिताजी भी बिना किसी वसीयत के गुजर चुके हैं। हम दो भाई हैं।
कुछ समय पहले मेरे बड़े भाई का भी देहांत हो गया।
अभी हाल में मेरे स्वर्गीय भाई के लडको ने उस जमीं के टुकड़े कर बेचना शुरू कर
दिया तो पूछने पर उन्होंने बताया की वह जमीं तो उनके पिताजी याने मेरे भाई की
अकेके की है और उसी ने खरीदी थी। जमीं के कागज भाई के पास ही रहे थे।
जब हमने नगर निगम में जानकारी ली तो वह से मूल खरीद पात्र की कॉपी मिली
जिसमे मेरे बड़े भाई ने हमारे पिता का नाम काट कर खुद का नाम लिख लिया था
व् निगम में ताउजी +खुद के नाम से दर्ज करवा ली थी। फिर ताउजी की मृत्यु बाद
एक सपथ पात्र देकर खुद को ताउजी का एकमात्र पुत्र दिखा कर उसकी नाम्दार्ज़ी सिर्फ
अपने अकेले के नाम करवा कर निगम से प्रमाण पात्र भी ले लिया। जमीं का कुछ
हिस्सा भाई ने अपने एक पुत्र को गिफ्ट कर दिया। अब उसके लड़के उस जमीं को
अपने पिता से मिली हुई बता कर बेच रहे है। जबकि किये हुए गलत कामो की
उन्हें जानकारी है फिर भी पूरी जमीन हडप कर बैठे है।

स्थानीय वकील साब का कहना है की इसमें मेरे दिवंगत भाई व् उसके
वारिस ,याने उसके लड़के , लड़की, पत्नी ,निगम अधिकारी ,व् नए क्रेता पर
धोखा-दडी का फोजदारी केस बनता है(क्योंकि वह सब उस जमीन को अपने
नाम करवाने की कार्यवाही कर रहे हैं व् बेच भी रहे हैं।) ,
लेकिन मैं इस बात से सहमत नहीं हो
पा रहा हूँ की एक मृतक व्यक्ति पर कैसे मुकदमा दायर किया जा सकता है?

कृपया (हिंदी/इंग्लिश) में बताएं की मेरे पास इस स्तिथि से निपटने के
क्या उपाय है व् मुकदमा किस किस पर बनेगा ?
Akhilesh Kumar (Expert) 08 October 2013
Dear Bhikham ji,
Firstly you have to make a family tree (Complete Family details including your parent's Parent)then how property has been purchased and by whome. Thereafter you have to make an Application to Circle office or DCLR office stating all these facts and request for the partition as per family tree and succession Act and also pray to stop the further sale/mutation of the property. Further you have to file Partition suit before the court stating the fraud commited. Please confirm who are in the possession of the Land/property because it creates 75 % rights.
Rajendra K Goyal (Expert) 08 October 2013
First of all take a stay against the so claimed owners of the property and all purchasers / transferees, so that they can not dispose it further.

File suit about your claim. Make party to all those who have purchased the land or in whose name the same has been transferred. Hire services of some senior local lawyer.
Rajendra K Goyal (Expert) 08 October 2013
Repeated query.
Sarvesh Kumar Sharma Advocate (Expert) 08 October 2013
महोदय; सर्व प्रथम आपको हिन्दी भाषा में लेखन के लिए साधूवाद!
वास्तव में यह प्रकरण समय अवधि के बीत जाने के पश्चात का है;भारतीय दण्ड संहिता की धारा 420 /467 /468 जिस पर बनती थी वो स्वर्ग सिधार गया, अब 471 बनती भी है तब भी यह 420 के बिना अधूरी है; वस्तुतः जो कागजात आप प्रमाणित करना चाहते है आप को उसकी सत्यनिष्ठा संदेह से परे साबित करनी होगी!जब कर लें तभी कदम आगे बढ़ाए! मामला करीबी रिश्तेदारी का है ;दोनो पहलुओं को अच्छी तरह से बिचार ले!मेरे सुझाव में दीवानी वाद से बचें!फैसला आपका!
Sarvesh Kumar Sharma Advocate (Expert) 08 October 2013
महोदय; सर्व प्रथम आपको हिन्दी भाषा में लेखन के लिए साधूवाद!
वास्तव में यह प्रकरण समय अवधि के बीत जाने के पश्चात का है;भारतीय दण्ड संहिता की धारा 420 /467 /468 जिस पर बनती थी वो स्वर्ग सिधार गया, अब 471 बनती भी है तब भी यह 420 के बिना अधूरी है; वस्तुतः जो कागजात आप प्रमाणित करना चाहते है आप को उसकी सत्यनिष्ठा संदेह से परे साबित करनी होगी!जब कर लें तभी कदम आगे बढ़ाए! मामला करीबी रिश्तेदारी का है ;दोनो पहलुओं को अच्छी तरह से बिचार ले!मेरे सुझाव में दीवानी वाद से बचें!फैसला आपका!


You need to be the querist or approved LAWyersclub expert to take part in this query .


Click here to login now



Similar Resolved Queries :





Post a Suggestion for LCI Team
Post a Legal Query