LCI Learning

Share on Facebook

Share on Twitter

Share on LinkedIn

Share on Email

Share More

pervez (adviser)     19 August 2011

Getup and fight with corruption

Dear Indians,

 

The Govt. of India has put a condition that if 25 crore people support the idea then we will pass the 'Jan Lokpal Bill'. They say the test of character is when chips are down. We have called n SMSed earlier to count our Taj in the modern wonders, should we not rise to the occasion when it is a momentous moment to free our motherland from the ugly clutches of 'CORRUPTION'. If you support the idea just call/dial on the Toll Free No. 02261550789. Your call will be automatically rejected after one ring and U get a thank you message.

 

I am sure that you can bear this small toll for your country's sake. Pervade the message to ensure that we cross the figure much beyond 25 crore.

Yours co-citizen

 

"दर्द होता रहा छटपटाते रहे, आईने॒ से सदा चोट खाते रहे,

वो वतन बेचकर मुस्कुराते रहे, हम वतन के लिए॒ सिर कटाते रहे" 

 

 

280 लाख करोड़ का सवाल है ...

 

भारतीय गरीब है लेकिन भारत देश कभी गरीब नहीं रहा - ये कहना है स्विस बैंक के डाइरेक्टर का. स्विस बैंक के डाइरेक्टर ने यह भी कहा है कि भारत का लगभग 280 लाख करोड़ रुपये उनके स्विस बैंक में जमा है. ये रकम इतनी है कि भारत का आने वाले 30 सालों का बजट बिना टैक्स के बनाया जा सकता है.

 

या यूँ कहें कि 60 करोड़ रोजगार के अवसर दिए जा सकते है. या यूँ भी कह सकते है कि भारत के किसी भी गाँव से दिल्ली तक 4 लेन रोड बनाया जा सकता है. 

 

ऐसा भी कह सकते है कि 500 से ज्यादा सामाजिक प्रोजेक्ट पूर्ण किये जा सकते है. ये रकम इतनी ज्यादा है कि अगर हर भारतीय को 2000 रुपये हर महीने भी दिए जाये तो 60 साल तक ख़त्म ना हो. यानी भारत को किसी वर्ल्ड बैंक से लोन लेने कि कोई जरुरत नहीं है. जरा सोचिये ... हमारे भ्रष्ट राजनेताओं और नोकरशाहों ने कैसे देश को लूटा है और ये लूट का सिलसिला अभी तक, 2011 तक जारी है.

 

इस सिलसिले को अब रोकना बहुत ज्यादा जरूरी हो गया है. अंग्रेजो ने हमारे भारत पर करीब 200 सालो तक राज करके करीब 1 लाख करोड़ रुपये लूटा. 

 

मगर आजादी के केवल 64 सालों में हमारे भ्रस्टाचार ने 280 लाख करोड़ लूटा है. एक तरफ 200 साल में 1 लाख करोड़ है और दूसरी तरफ केवल 64 सालों में 280 लाख करोड़ है. यानि हर साल लगभग 4.37 लाख करोड़, या हर महीने करीब 36 हजार करोड़ भारतीय मुद्रा स्विस बैंक में इन भ्रष्ट लोगों द्वारा जमा करवाई गई है. 

 

भारत को किसी वर्ल्ड बैंक के लोन की कोई दरकार नहीं है. सोचो की कितना पैसा हमारे भ्रष्ट राजनेताओं और उच्च अधिकारीयों ने ब्लाक करके रखा हुआ है. 

 

हमे भ्रस्ट राजनेताओं और भ्रष्ट अधिकारीयों के खिलाफ जाने का पूर्ण अधिकार है. हाल ही में हुवे घोटालों का आप सभी को पता ही है - CWG घोटाला, २ जी स्पेक्ट्रुम घोटाला, आदर्श होउसिंग घोटाला ... और ना जाने कौन कौन से घोटाले अभी उजागर होने वाले है ........ 

 

इसे भी इतना फॉरवर्ड करो की पूरा भारत इसे पढ़े ... और एक आन्दोलन बन जाये



Learning

 3 Replies

akash kapoor (*************)     19 August 2011

well said my freind.

Zeeshan (Hidden)     20 August 2011

I have made a miss call. But never heard about this condition. Who impose this condition ?

Dipangkar (Business)     20 August 2011

I have been sending sms regarding this msg for months. It seems very few Indians are aware of this.

This process may bear a faint chance of achieving it's goal, as the numbers just doesn't seems to cross 1.3 crore only (As per 15th Aug)

Anyway no harm in trying so & informing friends about it.

 

@ Zeeshan, see this link for lots of info. You can also regd. here as a volunteer member of  IAC (India Against Corruption.) (If you had not done so)

https://www.indiaagainstcorruption.org/


Leave a reply

Your are not logged in . Please login to post replies

Click here to Login / Register  


Start a New Discussion Unreplied Threads


Post a Suggestion for LCI Team
Post a Legal Query