bharati singh
kgp/west bengal

About me

  Member Since : 16 December 2009  (Kharagpur )

You can never get enough of the things you don't need, because the things you don't need can never satisfy

 corruption should be distroyed who ever seems in corruption he should punish severly

मुझको है विश्वास किसी दिन
घायल हिंदुस्तान उठेगा।

दबी हुई दुबकी बैठी हैं
कलरवकारी चार दिशाएँ,
...ठगी हुई, ठिठकी-सी लगतीं
नभ की चिर गतिमान हवाएँ,अंबर के आनन के ऊपर
एक मुर्दनी-सी छाई है,
एक उदासी में डूबी हैं
तृण-तरुवर-पल्लव-लतिकाएँ;आंधी के पहले देखा है
कभी प्रकृति का निश्चल चेहरा?इस निश्चलता के अंदर से
ही भीषण तूफान उठेगा।

मुझको है विश्वास किसी दिन
घायल हिंदुस्तान उठेगा।
:P



My Contribution




Click On the Tabs to see my contribution..!!

Note : Hidden content . Visible only to logged in members






×

  LAWyersclubindia Menu

web analytics